history of ayodhya

Unknown History of Ayodhya City: प्राचीन अयोध्या का अज्ञात इतिहास 

प्राचीन अयोध्या का अज्ञात इतिहास ‘अयोध्या एक सनातन शाश्वत भूमि है ,न कभी उसकी उत्पत्ति हुई है और न ही कभी उसका नाश होता है’- यह एक प्राचीन मान्यता है,जिसके बारे में लगभग यही बातें हम अपनी दादी नानी के मुख से सुनते आ रहे हैं |हम तो वर्तमान सन्दर्भ में भी बस इस्तना ही…

Read More
India vs Bharat

India vs Bharat: The Reality Behind the Name ‘Bharat Varsha’- ‘भारतवर्ष’ के नामकरण की वास्तविकता

india vs bharat :The Reality Behind the Name ‘Bharat Varsha’ भारतवर्ष के नामकरण की वास्तविकता –   प्रो.डॉ. अनेकान्त कुमार जैन(राष्ट्रपति सम्मानित )[1] india vs bharat :हमारी मान्यता बन चुकी है कि हमारी दृष्टि वैसी नहीं होनी चाहिए जैसा कि ‘सत्य’ है; बल्कि सत्य ही वैसा होना चाहिए जैसी कि दृष्टि है। आश्चर्य होता है कि…

Read More
Jain University Rishabhdev

A Concept of Teerthanker Rishabhdev Jain University: तीर्थंकर ऋषभदेव जैन विश्वविद्यालय की परिकल्पना

A Concept of Teerthanker Rishabhdev Jain University Teerthanker Rishabhdev Jain University (आचार्य विद्यासागर जी की पुण्य स्मृति में स्थापित हो जैन विश्वविद्यालय : एक परिकल्पना ) प्रो० अनेकान्त कुमार जैन, नई दिल्ली s/o प्रो फूलचंद जैन प्रेमी 18फरवरी 2024 को जन जन की आस्था के सागर पूज्य आचार्य विद्यासागर महाराज समाधिस्थ हो गए | इसे एक महान संयोग…

Read More
qutub minar history

An Untold Story of Qutub Minar History: कुतुबमीनार की अनकही कहानी- History of Delhi in hindi

An Untold Story of Qutub Minar History: कुतुबमीनार की अनकही कहानी The Real History of Delhi in hindi: दिल्ली का वास्तविक इतिहास प्रो डॉ.अनेकांत कुमार जैन ,नई दिल्ली S/O प्रो.फूलचंद जैन प्रेमी ,वाराणसी Truth behind History इतिहास के पीछे छुपी सच्चाई हमें ईमानदारी पूर्वक भारत के सही इतिहास की खोज करनी है तो हमें जैन…

Read More
Varanasi history in hindi:

Varanasi history in hindi:वाराणसी की प्राचीन जैन संस्कृति एवं परम्परा

वाराणसी की प्राचीन जैन संस्कृति एवं परम्परा प्रो. फूलचन्द जैन प्रेमी, वाराणसी (राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित) Varanasi history in hindi: श्रमणधारा भारत में अत्यंत प्राचीन काल से प्रवहमान है । पुरातत्त्व, भाषा एवं साहित्य के क्षेत्रों में अन्वेषणों से यह स्पष्ट है कि  अपने देश में प्राक् वैदिक काल में जो संस्कृति थी, वह श्रमण या आर्हत्-संस्कृति…

Read More
jain flag

Jainism And Sanatan Dharma: क्या जैन धर्म सनातन है? जैन आगमों में सनातन

Jainism And Sanatan Dharma: सनातन धर्म कोई संप्रदाय नहीं हो सकता । उत्पत्तियाँ सम्प्रदायों की हो सकती हैं धर्म की नहीं ,इसलिए धर्म हमेशा सनातन ही होता है । इसलिए विभिन्न सम्प्रदायों के मध्य मुझे यह चर्चा ही व्यर्थ लगती है कि कौन सा संप्रदाय सनातन है । यह समस्या ही इसलिए खड़ी हुई है…

Read More
error: Content is protected!